गोल्ड ETFs और गोल्ड फंड्स के फायदे

गोल्ड ETF 99.5% शुद्धता वाले गोल्ड बुलियन (सोने की ईंट) में निवेश करते हैं जो भौतिक धातु में निवेश करने के समान है। अगर आप लंबी-अवधि के लिए सोना एकत्रित करने के बारे में सोच रहे हैं, तो भौतिक रूप में उसे रखने या गोल्ड फंड में निवेश करने के मुकाबले गोल्ड ETF में निवेश करना ज़्यादा समझदारी वाला विकल्प है।

गोल्ड म्यूचुअल फंड्स सोने के खनन, प्रोसेसिंग, फैब्रिकेशन और वितरण में शामिल कंपनियों के शेयरों में निवेश करते हैं। गोल्ड फंड्स का प्रदर्शन इन कंपनियों के शेयरों की कीमतों में उतार-चढ़ाव पर निर्भर करता है। यद्यपि गोल्ड ETF सीधे धातु के प्रदर्शन से जुड़े रिटर्न पेश करते हैं, गोल्ड फंड्स सोने के उद्योग के प्रदर्शन से जुड़े रिटर्न प्रस्तुत करते हैं।

गोल्ड म्यूचुअल फंड्स को फंड मैनेजर्स सक्रियता से मैनेज करते हैं, इनमें गोल्ड ETF जो मार्केट इंडेक्स को कॉपी करते हैं, से ज़्यादा बेहतर रिटर्न देने की क्षमता होती है। क्योंकि ETFs इंडेक्स को कॉपी करते हैं, गोल्ड ETFs का एक्सपेंस रेश्यो गोल्ड फंड से कम होता है। गोल्ड ETF भौतिक धातु की कीमतों में उतार-चढ़ाव को गोल्ड म्यूचुअल फंड्स के मुकाबले ज़्यादा सटीक तरीके से ट्रैक करते हैं। चूँकि ETF एक्सचेंज में लिस्टेड होते हैं, इसलिए वे अधिक नकदी प्रस्तुत करते हैं। आप दिन में किसी भी समय सोने की रीयल-टाइम कीमत पर अपनी होल्डिंग्स खरीद या बेच सकते हैं। इसलिए गोल्ड ETF भौतिक सोना रखने से अच्छा विकल्प हैं। गोल्ड फंड एसआईपी के जरिए लंबी अवधि के लिए गोल्ड इंडस्ट्री में निवेश का अच्छा मौका देते हैं।

सोने में निवेश करके मिलेगा शानदार रिटर्न, यह है तरीका

सोने में निवेश करके मिलेगा शानदार रिटर्न, यह है तरीका

aajtak.in

aajtak.in

  • नई दिल्ली ,
  • 02 नवंबर 2020,
  • अपडेटेड 10:59 AM IST

भारत में निवेश के लिए सोना एक भरोसेमंद विकल्प होता है. सालों से लोग अपनी बचत को सोने में निवेश करते हैं. इस त्यौहारी सीजन में सोने में निवेश के अलग-अलग विकल्पों का आप इस्तेमाल कर लाभ उठा सकते हैं. फिजिकली गोल्ड में निवेश, गोल्ड सोने में निवेश कैसे करें म्यूचुअल फंड्स में निवेश, डिजिटल गोल्ड खरीदें और सॉवरेन गोल्ड बांड्स से मिलेगा फायदा. देखें वीडियो.

Gold gives safety and liquidity to the investors who are looking for investing. Gold prices are expected to firm up due to the novel coronavirus. Investing in gold is worthwhile. There are different ways of सोने में निवेश कैसे करें investing gold to get high returns and make your money safe. Invest in physical gold, mutual funds, buy digital gold, and sovereign gold bonds. Watch the video to know more.

Dhanteras 2022: इन तीन तरह से करें गोल्ड में निवेश, हो जाएंगे मालामाल

INVESTMENT IN GOLD FOR BETTER RETURNS

धनतेरस पर लोग तरह-तरह के धातु से बनी हुई चीजों को खरीदना पसंद करते हैं। सोने से बने हुए सामानों को धनतेरस पर खरीदना बहुत शुभ माना जाता है। अगर बात करें सोने में निवेश की तो कई लोग सोने में निवेश करते हैं। सोने में निवेश करने के कई तरह के ऑप्शन होते हैं।

इससे आपको कई तरह के फायदे तो होते ही हैं और साथ ही आपको भविष्य में आर्थिक परेशानी का सामना करने सोने में निवेश कैसे करें में भी मदद मिलती है। अगर आप इस धनतेरस पर निवेश करने की सोच रहे हैं तो हम आपको बताएंगे तीन तरीकों के बारे में जिसमें आप निवेश करके लाभ उठा सकते हैं।

1)गोल्ड ईटीएफ में निवेश करें

TYPES OF GOLD INVESTMENTS

अगर आप स्टॉक एक्सचेंज की अच्छी समझ रखते हैं तो गोल्ड ईटीएफ में निवेश करने का फायदा आपको बेहतर तरीके से मिल सकता है। आपको बता दें कि डी मैटेरियलिज्ड सोने में निवेश कैसे करें फॉर्म में सोने में निवेश करने की सुविधा इसमें मिलती है। इसका मतलब यह है कि आप इसे स्टॉक एक्सचेंज में खरीद और बेच सकते हैं।

आपको बता दें कि इसकी कीमत के बारे में आप अपडेट पा सकते हैं। आपको बता दें कि पेपर गोल्ड में निवेश करने का यह सबसे अच्छा तरीका माना जाता है क्योंकि यह कॉस्ट इफेक्टिव होता है। गोल्ड ईटीएफ में निवेश करने के लिए डिमैट और ऑनलाइन ट्रेडिंग अकाउंट खोल सकते हैं।

2)सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में रखें सोना

आपको बता दें कि सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड यानी एसजीबी एक सरकारी सिक्योरिटी होती है। इसमें निवेश करने वाले सोने में निवेश कैसे करें को इश्यू प्राइस का भुगतान कैश में करना होता है और जब बांड मैच्योरिटी होती है तो निवेशक को रिडीम करने में आसानी होती है। अगर आप लगभग 10 सालों के लिए निवेश करना चाहते हैं तो यह सुरक्षित तरीका माना जाता है।

आपको बता दें कि फिजिकल गोल्ड रखने का यह एक बहुत अच्छा ऑप्शन होता है। आपको बता दें कि आरबीआई ने जब सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम की नई सीरीज शुरू की थी तो इसमें कम से कम 5147 रुपये प्रति एक ग्राम का निवेश किया जा सकता है।

साथ ही अगर आप चाहें तो डिजिटल फॉर्म में भी निवेश कर सकते हैं। आपको बता दें कि इसमें ऑनलाइन खरीदारी पर 50 रुपये की छूट भी मिलती है। इसमें अधिकतम सीमा 4 किलो सोना रखने की रखी गई है।

3)गोल्ड फंड ऑफ फंड्स में निवेश

अगर आप एफओएफ यानी गोल्ड फंड ऑफ फंड्स करते हैं तो आपको बता दें कि इसमें आपको सेफ्टी और सिक्योरिटी के साथ- साथ बेस्ट रिटर्न भी मिलता है। साथ ही इसे सोने में निवेश करने के लिए काफी बेहतर ऑप्शन माना जाता है। आपको अगर ज्यादा समय के लिए निवेश करना है तो इसके अलावा आपको ईटीएफ में निवेश करना चाहिए।

इन सभी तरह से आप इस बार धनतेरस पर सोने में निवेश करके भविष्य में कई तरह के फायदे उठा सकते हैं।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें। इसी तरह के लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

पर्सनल फाइनेंस: गोल्ड में निवेश करने का बना रहे हैं प्लान तो इन तरीकों से कम पैसों के साथ कर सकते हैं शुरुआत

पिछले 1 साल में सोने ने शानदार रिटर्न दिया है। इसी का नतीजा है कि सोना निवेश के नजरिए से पसंदीदा इन्वेस्टमेंट ऑप्शन बन रहा है। डिजिटली सोने में निवेश करने का सबसे बड़ा फायदा हैं कि इसमें आपको शुद्ध सोना तो मिलता ही है साथ ही इसमें आप कम रुपयों से निवेश की शुरुआत सोने में निवेश कैसे करें कर सकते हैं। आज हम आपको 4 माध्यमों के बारे में बता रहे हैं जिनके जरिए आप डिजिटल गोल्ड में निवेश कर सकते हैं।

गोल्ड एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड्स (ETF)
सोने को शेयरों की तरह खरीदने की सोने में निवेश कैसे करें सुविधा को गोल्ड ईटीएफ कहते हैं। यह म्यूचुअल फंड की स्कीम है। ये एक्सचेंज-ट्रेडेड फंड हैं जिन्हें स्टॉक एक्सचेंजों पर खरीदा और बेचा जा सकता है। चूंकि गोल्ड ईटीएफ का बेंचमार्क स्पॉट गोल्ड की कीमतें है, आप इसे सोने की वास्तविक कीमत के करीब खरीद सकते हैं। गोल्ड ईटीएफ खरीदने के लिए आपके पास एक ट्रेडिंग डीमैट खाता होना चाहिए। इसमें सोने की खरीद यूनिट में की जाती है। इसे बेचने पर आपको सोना नहीं बल्कि उस समय के बाजार मूल्य के बराबर राशि मिलती है।

यह सोने में निवेश के सबसे सस्ते विकल्पों में से एक है। इन्हें शेयरों की तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के कैश मार्केट में खरीदा-बेचा जा सकता है। गोल्ड ईटीएफ की एक यूनिट सोने में निवेश कैसे करें एक ग्राम सोने के बराबर होती है। लेकिन गोल्ड ETF में कोई अपर लिमिट नहीं है। गोल्ड ETF में कोई लॉक इन पीरियड नहीं है। इसमें 3 साल का होल्डिंग पीरियड पूरा करने के बाद बेचने पर इंडेक्सेशन बेनीफिट के साथ 20 फीसदी LTCG टैक्स लगता है। वहीं 3 साल से पहले बेचने पर एप्लीकेबल स्लैब रेट से टैक्स लगता है।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड
ये बॉन्ड भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा भारत सरकार की ओर से जारी किए जाते हैं और स्टॉक एक्सचेंज में ट्रेड किए जाते हैं। आप एक ग्राम भी सोना खरीद सकते हैं। सॉवरेन गोल्ड बांड एक सरकारी बांड होता है। इसे डीमैट रूप में परिवर्तित कराया जा सकता है। इसका मूल्य रुपए या डॉलर में नहीं होता है, बल्कि सोने के वजन में होता है। यदि बांड पांच ग्राम सोने का है, सोने में निवेश कैसे करें तो पांच ग्राम सोने की जितनी कीमत होगी, उतनी ही बांड की कीमत होगी। इसे खरीदने सोने में निवेश कैसे करें के लिए सेबी के अधिकृत ब्रोकर को इश्यू प्राइस का भुगतान करना होता है। बांड को भुनाते वक्त पैसा निवेशक के खाते में जमा हो जाता है। यह बांड भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) सरकार की ओर से जारी करता है।

गोल्ड म्यूचुअल फंड
गोल्ड म्यूचुअल फंड गोल्ड ETF का ही एक प्रकार है। ये ऐसी योजनाएं हैं जो मुख्य रूप से गोल्ड ETF में निवेश करती हैं। गोल्ड म्यूचुअल सोने में निवेश कैसे करें फंड सीधे भौतिक सोने में निवेश नहीं करते हैं, लेकिन उसी स्थिति को अप्रत्यक्ष रूप से लेते हैं। गोल्ड म्यूचुअल फंड ओपन-एंडेड निवेश प्रोडक्ट है जो गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (Gold ETF) में निवेश करते हैं और उनका नेट एसेट वैल्यू (NAV) ETFs के प्रदर्शन से जुड़ा हुआ है।

आप मासिक SIP के माध्यम से 1,000 रुपए से कम के साथ गोल्ड म्यूचुअल फंड में निवेश शुरू कर सकते हैं। इसके निवेश करने के लिए डीमैट अकाउंट की जरूरत नहीं होती है। आप किसी भी म्यूचुअल फंड हाउस के माध्यम से इसमें निवेश की शुरुआत कर सकते हैं।

पेमेंट ऐप से भी खरीद सकते हैं गोल्ड
अब आप अपने स्मार्टफोन से ही डिजिटल गोल्ड में निवेश कर सकते हैं। इसके लिए बहुत ज्यादा पैसा खर्च करने की भी जरूरत नहीं होती है। आप अपनी सुविधानुसार जितनी कीमत का चाहें सोना खरीद सकते हैं, यहां तक कि 1 रुपए का भी। यह सुविधा अमेजन-पे, गूगल पे, पेटीएम, फोनपे और मोबिक्विक जैसे प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है।

सोने में निवेश करके मिलेगा शानदार रिटर्न, यह है तरीका

सोने में निवेश करके मिलेगा शानदार रिटर्न, यह है तरीका

aajtak.in

aajtak.in

  • नई दिल्ली ,
  • 02 नवंबर 2020,
  • अपडेटेड 10:59 AM IST

भारत में निवेश के लिए सोना एक भरोसेमंद विकल्प होता है. सालों से लोग अपनी बचत को सोने में निवेश करते हैं. इस त्यौहारी सीजन में सोने में निवेश के अलग-अलग विकल्पों का आप इस्तेमाल कर लाभ उठा सकते हैं. फिजिकली गोल्ड में निवेश, गोल्ड म्यूचुअल फंड्स में निवेश, डिजिटल गोल्ड खरीदें और सॉवरेन गोल्ड बांड्स से मिलेगा फायदा. देखें वीडियो.

Gold gives safety and liquidity to the investors who are looking for investing. Gold prices are expected to firm up due to the novel coronavirus. Investing in gold is worthwhile. There are different ways of investing gold to get high returns and make your money safe. Invest in physical gold, mutual funds, buy digital gold, and sovereign gold bonds. Watch the video to know more.

रेटिंग: 4.48
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 151