KVP: इस सरकारी स्कीम में कुछ ही महीनों में दोगुना हो जाएगा आपका पैसा, 5 लाख बन जाएंगे सीधे 10 लाख

Kisan Vikas Patra: आज हम आपको एक ऐसी सरकारी स्कीम के बारे में बताएंगे, जिसके जरिए आप अपने पैसे को कुछ ही महीनों में दोगुना कर सकते हैं. जानें कितना समय लगेगा-

By: ABP Live | Updated at : 27 Apr 2022 09:32 PM (IST)

Edited By: Shivani

किसान विकास पत्र (फाइल फोटो)

Kisan Vikas Patra: केंद्र सरकार की ओर से कई सरकारी स्कीम चलाई जा रही हैं, जिसमें पैसा लगाकर आप मोटा मुनाफा कमा सकते हैं. आज हम आपको एक ऐसी सरकारी स्कीम के बारे में बताएंगे, जिसके जरिए आप अपने पैसे को कुछ ही महीनों में दोगुना कर सकते हैं. इस सरकारी स्कीम का नाम किसान विकास पत्र है. आप इसे पोस्ट ऑफिस (Post Office) में इस स्कीम का फायदा ले सकते हैं. KVP के जरिए आप अपने 5 लाख को 10 लाख बना सकते हैं.

पैसे की मिलेगी सरकारी गारंटी
आपको बता दें इस स्कीम में आपके पैसे की पूरी तरह गारंटी रहती है. इस स्कीम में आपका पैसा 10 साल और 4 महीने (124 महीने) दोगुना हो जाता है तो अगर आप भी पैसा डबल करने वाली कोई स्कीम देख रहे हैं तो यह आपके लिए बेस्ट ऑप्शन हो सकता है. आइए आपको बताते हैं कि कैसे आपके 5 लाख 10 लाख बन जाएंगे.

कितना मिलता है ब्याज?
किसान विकास पत्र (Kisan Vikas Patra) स्कीम में निवेशकों को 6.9 फीसदी की दर से ब्याज का फायदा मिलता है. इसमें निवेशकों को सालाना कंपाउंड ब्याज का फायदा मिलता है. इसमें निवेशकों को सर्टिफिकेट के रूप में निवेश करना होता है.

मिनिमम कितना लगाना होता है पैसा
अगर आप मिनिमम निवेश की बात करें तो आप इस स्कीम में 1000 रुपये से शुरुआत कर सकते हैं. वहीं, अधिकतम निवेश की कोई सीमा नहीं होती है. आप इसे 100 रुपये के मल्टीपल में खरीद सकते हैं. इसमें आप 1000, 2000, 5000, 10000 और 50000 रुपये तक सर्टिफिकेट खरीद सकते हैं. आप ये सर्टिफिकेट पोस्ट ऑफिस से खरीद सकते हैं.

News Reels

कौन कर सकता है निवेश?

  • इस स्कीम में निवेश की बात की जाए तो कोई भी वयस्क ये सर्टिफिकेट खरीद सकता है.
  • इसके अलावा मैक्सिमम तीन वयस्क मिलकर एक ज्वॉइंट अकाउंट में निवेश कर सकते हैं.
  • 10 साल की उम्र से ज्यादा का नाबालिग ये सर्टिफिकेट खरीद सकता है.
  • इसके अलावा किसी नाबालिग की ओर से कोई व्यस्क और किसी कमजोर दिमाग वाले व्यक्ति की ओर से अभिभावक इसे खरीद सकता है.

पोस्ट ऑफिस में जाकर ले सकते हैं ये सर्टिफिकेट
इस खाते को ओपन कराने के लिए आपको पोस्ट ऑफिस जाना होता है. यहां पर आपको अपना पहचान पत्र जैसे- आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और पासपोर्ट की जरूरत होती है. आप सिंगल या फिर ज्वॉइंट अपनी जरूरत के हिसाब से खाता ओपन करा सकते हैं.

कैसे बनेंगे 5 लाख के 10 लाख?
अगर आप आज की तारीख में इस योजना में 5 लाख रुपये लगाते हैं तो आपको इसमें 6.9 फीसदी की दर से सालाना कंपाउंड ब्याज का फायदा मिलेगा, जिसके बाद 124 महीने में आपकी जमाराशि दोगुना हो जाएगी.

कब निकाल सकते हैं पैसा
बता दें अगर आपको बहुत ही ज्यादा पैसे की जरूरत है तो आप इसको मैच्योरिटी से पहले भी निकाल सकते हैं, लेकिन आपको मिनिमम ढाई साल का इंतजार करना होगा यानी आप ढाई साल से पहले इस स्कीम का पैसा नहीं निकाल सकते हैं.

Published at : 27 Apr 2022 09:31 PM (IST) Tags: Post Office Kisan Vikas Patra KVP Post office Savings scheme kisan vikas patra interest kisan vikas patra interest rate 2021 KVP in post office kisan vikas patra post office interest rate आप अपनी रकम को कैसे कर सकते हैं दोगुना हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: Business News in Hindi

Salary Hike Formula: अगर 7 से 8 साल में आपकी सैलरी नहीं हो रही है दोगुनी? तो फिर सोचना पड़ेगा, ये आप अपनी रकम को कैसे कर सकते हैं दोगुना है विकल्प.

RBI का मानना है कि कम से कम हर साल 7% की दर से महंगाई बढ़ रही है. इसका सीधा मतलब है कि अगर किसी के खर्चे इस साल हर महीने एक लाख रुपये है तो अगले साल बढ़कर वो खर्चे 107 लाख रुपये हो जाएगा.

हर साल कितनी बढ़नी चाहिए सैलरी? (Photo: File)

अमित कुमार दुबे

  • नई दिल्ली,
  • 28 नवंबर 2022,
  • (अपडेटेड 28 नवंबर 2022, 7:27 PM IST)

मेरी सैलरी (Salary) नहीं बढ़ रही है. जबकि मेरे साथ वाले की हर साल खूब बढ़ रही है. एक संस्थान में काम करने वालों के बीच ये शिकायत या बातचीत आम होती है. खासकर प्राइवेट संस्थानों (Private Sectors) में कर्मचारियों के बीच सैलरी को लेकर हमेशा चर्चा होती है. कई मामलों में मैनेजर या फिर अपने बॉस को कटघरे में खड़ा किया है, उनपर पक्षपात का आरोप भी लग जाता है.

लेकिन सच ये है कि इंसान में हमेशा ज्यादा पाने की इच्छा होती है. इसलिए वो अपनी सैलरी की दूसरों से तुलना करते हैं, जो कि बिल्कुल गलत पैमाना है. अगर आपकी भी इस तरह की शिकायतें हैं तो फिर आपको नजरिया बदलने की जरूरत है. आज हम आपको बताने वाले हैं कि किस परिस्थिति में कर्मचारी को अपनी सैलरी के बारे में सोचना चाहिए.

कैसे करें वेतन का आंकलन?

सम्बंधित ख़बरें

यूपी के 1.2 लाख होमगार्ड के लिए खुशखबरी, अब वेतन मिलने में नहीं होगी देरी
अग्निवीर भर्ती रैली 01 दिसंबर को, 43 हजार से ज्यादा युवा होंगे शामिल
भोपाल में 7500 प्राथमिक शिक्षक भर्ती का आदेश जारी, ये हैं जरूरी डेट्स
BPSC 67th मेन्‍स एडमिट कार्ड कब होंगे जारी? ये है अपडेट
इलाहाबाद हाई कोर्ट की 3900+ वैकेंसी, एग्जाम शेड्यूल जारी, एडमिट कार्ड जल्द

सम्बंधित ख़बरें

दूसरों से तुलना की बजाय खुद की सैलरी ग्रोथ (Salary Growth) को आंकना सबसे जरूरी है. अगर आप खुद की सैलरी आंकलन कर लें तो फिर सैलरी से जुड़ी आपकी शिकायतें दूर हो जाएंगी. आइए जानते हैं कि कैसे आप अपनी सैलरी या वेतन का आंकलन कर सकते हैं. आपको पता है कि महंगाई (Inflation) दिनों-दिन बढ़ती जा रही है. जिससे खाने-पीने की चीजों से लेकर सभी तरह के खर्चे बढ़ रहे हैं. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) का मानना है कि कम से कम हर साल 7% की दर से महंगाई बढ़ रही है. इसका सीधा मतलब है कि अगर किसी के खर्चे इस साल हर महीने एक लाख रुपये है तो अगले साल बढ़कर वो खर्चे 107 लाख रुपये हो जाएगा.

ऐसे में महंगाई को मात देने के लिए सैलरी में 7 फीसदी से ज्यादा की बढ़ोतरी जरूरी है. वैसे भी हर साल दुनियाभर में 10-12 फीसदी की सैलरी ग्रोथ होती है. यानी एक लाख कमाने वाले की सैलरी 10 से 12 हजार रुपये बढ़ती है. इस बढ़ोतरी को बेहतर माना जाता है, क्योंकि महंगाई ग्रोथ के मुकाबले सैलरी में ग्रोथ में ज्यादा है.

लेकिन अगर सैलरी में 5 फीसदी की बढ़ोतरी होती है, तो फिर महंगाई के मुकाबले के लिए जरूर खर्चों को कम करना होगा. अब एक सवाल उठता है कि कितनी सैलरी होनी चाहिए, और ग्रोथ का पैमाना क्या है? महंगाई और इंडस्ट्रीज ग्रोथ के अनुसार एक सैलरीड क्लास का वेतन 7 से 8 साल में दोगुना हो जाना चाहिए.

एक उदाहरण से समझते हैं.

उदाहरण के लिए एक ही संस्थान में मोहित और रोहित काम करते हैं. दोनों ने एक साथ ही इस कंपनी को 10 साल पहले ज्वाइन किया था. दोनों की 7 साल पहले सैलरी एक सामान 25000 रुपये महीने थी. लेकिन आज मोहित की सैलरी 50 हजार से ऊपर है. जबकि रोहित की 40 हजार के आसपास है.

ऐसे में करियर ग्रोथ के हिसाब से देखें तो पिछले सात साल में मोहित की सैलरी दोगुनी हो गई है, यानी मोहित की सैलरी ग्रोथ ठीक है, और उन्हें करियर के बारे में सोचने की जरूरत नहीं है. लेकिन रोहित की सैलरी सही से नहीं बढ़ी है. अब ऐसी स्थिति में रोहित को क्या करना चाहिए? अगर रोहित अपने करियर को लेकर चिंतित है तो उनके सामने दो विकल्प हैं. पहला- अपने मैनेजर से अपने काम को लेकर फीडबैक लेने की जरूरत है. इसके अलावा नई नौकरी की तलाश भी एक विकल्प है.

सैलरी नहीं बढ़ने पर क्या विकल्प?

ये केवल मोहित-रोहित की कहानी है. हर कोई इसी तरह से अपने करियर ग्रोथ को देख सकते हैं. अभी जो सैलरी मिल रही है, अगर वो 7 साल पहले की तुलना में दोगुनी है तो उसे बेहतर मान सकते हैं. लेकिन अगर आप लंबे समय से किसी सेक्टर में काम कर रहे हैं और आपकी सैलरी 7 से 8 साल में दोगुनी नहीं हो रही है, तो फिर आपको सोचने की जरूरत है. सैलरी में कम ग्रोथ को लेकर आप संस्थान पर दोष नहीं मढ़ सकते हैं.

गौरतलब है कि सैलरी ग्रोथ को कर्मचारी के करियर से जोड़कर देखा जाता है, इसलिए अगर आपकी सैलरी 7-8 में दोगुनी नहीं हो रही है, फिर आपको अपने काम पर ध्यान देना चाहिए. साथ सैलरी को लेकर सही समय पर अपने मैनेजर से बात करें. इसके अलावा भी करियर ग्रोथ में रुकावट की एक बड़ी वजह यह भी होती है कि वर्षों तक एक ही कंपनी में बने रहना. जबकि करियर में ग्रोथ के लिए जॉब और पोर्टफोलियो दोनों में समय के साथ बदलाव जरूरी है. अगर आप इन चीजों पर गंभीरता से ध्यान देंगे, तो आप एक आदर्श सैलरी पा सकते हैं.

डबल योर मनी कैलकुलेटर | 72 कैलकुलेटर का नियम

Axis Myzone Free Credit Card

फिंतरा के दोहरे निवेश कैलकुलेटर के बारे में

डबल इन्वेस्टमेंट कैलकुलेटर आपके निवेश को दोगुना करने में लगने वाले वर्षों में समय निर्धारित करने के लिए 72 के नियम का उपयोग करता है। फिंतरा के दोहरे निवेश कैलकुलेटर का उपयोग करने के लिए, बस निवेश राशि और वार्षिक अपेक्षित रिटर्न दर्ज करें।

संक्षेप में, नियम 72 कहता है कि यदि आप किसी दिए गए ब्याज दर पर अपने निवेश को दोगुना करने के लिए आवश्यक वर्षों की संख्या ज्ञात करना चाहते हैं, तो आपको ब्याज दर को 72 में विभाजित करना होगा।

फिंतरा के दोहरे निवेश कैलकुलेटर का उपयोग कैसे करें?

सटीक परिणाम प्राप्त करने के लिए आपको निम्नलिखित डेटा प्रदान करने की आवश्यकता है:

  1. निवेश राशि– यह खाते में जमा राशि को दर्शाता है
  2. वार्षिक अपेक्षित रिटर्न

जब सभी डेटा डबल इन्वेस्टमेंट कैलकुलेटर में भर दिया जाता है, तो "सबमिट" पर क्लिक करें, और तुरंत परिणाम प्रदर्शित होंगे।

गणितीय रूप से सूत्र है:

T= लॉग (2)/लॉग(1+r/100) जहां r ब्याज दर है और t समय अवधि है।

दोहरे निवेश के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

अपने निवेश को दोगुना कैसे करें?

वित्तीय नियोजन को प्रभावी ढंग से करने के लिए बहुत प्रयास और ज्ञान की आवश्यकता होती है जो आपको अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने में सक्षम बनाता है। एक बार जब आप अपने निवेश को दोगुना करने के बारे में जान जाते हैं, तो आप सोच सकते हैं कि कम समय में अपने निवेश को दोगुना कैसे करें?

आपके पैसे को दोगुना करने में कई कारक शामिल हैं- इसमें विभिन्न निवेश विकल्प और उत्पाद शामिल हैं जिन्हें निवेश करने से पहले सावधानीपूर्वक जांच की जानी चाहिए। आखिरकार, 72 कैलकुलेटर के नियम की मदद से समय अवधि निर्धारित करना अंतिम चरण है।

फिंतरा के दोहरे निवेश कैलकुलेटर का उपयोग करने के क्या लाभ हैं?

फिंतरा का दोहरा निवेश कैलकुलेटर आपको विभिन्न निवेश विकल्पों के माध्यम से आपके निवेश के दोगुना होने तक सटीक समय प्राप्त करने में सक्षम बनाता है। हमारे कैलकुलेटर का उपयोग करने के लाभ हैं:

  • आपको अपने दुगने निवेश का लगभग सही समय पता चल जाता है
  • आप प्राथमिकता मॉडल के माध्यम से कई लक्ष्यों के लिए वित्त की योजना बनाने की बेहतर स्थिति में हैं
  • एक बड़ा हिस्सा चुकाने के वित्तीय भार में कमी आई है
  • फंड के छोटे हिस्से से बचत करना आसान हो जाता है
  • अपने पैसे को दोगुना करने के लिए आवश्यक ब्याज दर जानना आसान है ताकि आप तदनुसार निवेश कर सकें
  • हमारा कैलकुलेटर आसान और उपयोगकर्ता के अनुकूल है

ब्याज दर का चयन कैसे करें?

आपके मौजूदा निवेश उत्पादों पर मिलने वाले रिटर्न के आधार पर ब्याज दरों का चयन किया जाता है।

क्या आप एक व्यक्ति के रूप में सीधे निवेश कर सकते हैं?

आप सीधे एक व्यक्ति के रूप में निवेश कर सकते हैं लेकिन निवेश करने से पहले एक पेशेवर सलाहकार की तलाश करना उचित है।

आप निवेश के क्षेत्र में नए हैं और सोच रहे हैं कि इसकी योजना कैसे बनाई जाए?

चूंकि आप एक नौसिखिया हैं, इसलिए बेहतर ज्ञान प्राप्त करने के लिए पहले विभिन्न निवेश विकल्पों और उनके उपकरणों का अध्ययन करने की दृढ़ता से सलाह दी जाती है। आप पेशेवर मदद भी ले सकते हैं और उनके मार्गदर्शन का पालन कर सकते हैं।

आपके पैसे/निवेश को दोगुना करने के लिए कौन से विभिन्न विकल्प उपलब्ध हैं?

विभिन्न निवेश उत्पाद जो आपके पैसे/निवेश को दोगुना कर सकते हैं, वे हैं म्युचुअल फंड, शेयर, बॉन्ड, डेरिवेटिव, FD, RD, PPF, और कई अन्य। अपनी जोखिम लेने की क्षमता के आधार पर किसी भी विकल्प का चयन करें। लंबे समय में, म्यूचुअल फंड आपको अधिकतम रिटर्न प्रदान करते हैं.

Kisan Vikas Patra Scheme: सरकार की इस स्कीम में दोगुना हो जाएगा आपका पैसा, जानें कितना समय लगेगा

Post Office Kisan Vikas Patra – KVP

Kisan Vikas Patra Scheme: यदि आप भी अपने उज्ज्वल भविष्य के लिए किसी सरकारी स्कीम में पैसा लगाना चाहते है, तो जानकारी के लिए आपको बता दे की किसान विकास पत्र आपके लिए बेहतरीन हो सकता है. जी हाँ इस सरकारी स्कीम के अंतर्गत कुछ ही सालों में आपके द्वारा लगाया गया पैसा दोगुना हो जाएगा .

इस स्कीम आप अपनी रकम को कैसे कर सकते हैं दोगुना की खास बात है की आपका पैसा तो डबल होगा ही साथ ही साथ निवेशक को इसमें सरकारी गारंटी भी मिल जायेगी यानी आपका पूरा पैसा 100 फीसदी सुरक्षित रहेगा . उदाहरण के तौर पर यदि आप KVP में महज 1 लाख रुपये का निवेश (Investment) करते है तो कुछ ही सालों में वो 2 लाख हो जायेंगे . आइये जाने Kisan Vikas Patra Scheme Interest Rate, Features & Benefits की विस्तृत जानकारी..

किसान विकास पत्र में निवेश के लाभ

  • यह एक प्रकार की Post office Savings Scheme है.
  • किसान विकास पत्र ( Kisan Vikas Patra Interest Rate 2022 ) स्कीम में वर्तमान में 6.9 प्रतिशत की दर से ब्याज दिया जा रहा है।
  • इस स्कीम के तहत सिर्फ 124 महीनों यानी 10 साल 4 महीने में आपका पैसा दोगुना हो जाएगा.
  • इस स्कीम में आप न्यूनतम 1000 रुपए के निवेश से शुरुआत कर सकते है और अधिकतम निवेश की कोई सीमा नहीं है।
  • योजना में निवेश करने के लिए आपकी उम्र 18 साल या इससे अधिक होनी चाहिए.
  • आप किसी भी पोस्ट ऑफिस (Post Office) में सिंगल या ज्वाइंट अकाउंट खुलवा सकते है।
  • KVP Scheme में आपको आयकर (Tax) में भी छूट मिलेगी।

जानिए किसान विकास पत्र के खास नियम

निवेश करने के बाद आप कम से कम ढाई साल तक इस खाते से पैसे नहीं निकाल पाएंगे। हालांकि निवेशक कुछ शर्तों के तहत मैच्योरिटी से पहले इस खाते से पैसे निकाल सकते हैं. बता दें अगर कोई भी निवेशक प्रमाण पत्र खरीदने के एक साल के अंदर में वापस लेता है तो उसको ब्याज का फायदा नहीं मिलेगा.

केंद्र सरकार द्वारा किसान विकास पत्र सर्टिफिकेट को आप 1000, 5000, 10000 और 50000 के रूप में खरीदा जा सकता है.

मैच्योरिटी के बाद आप पोस्ट ऑफिस से अपनी राशि प्राप्त कर आप अपनी रकम को कैसे कर सकते हैं दोगुना सकते हैं। यह पैसा आप किसी भी पोस्ट ऑफिस ( Post Office ) से प्राप्त कर सकते हैं। इस पैसे को पाने के लिए आपको अपनी डिटेल देनी होगी, उसके बाद ही आपको पैसे मिलेंगे।

अगर निवेशक 50000 रुपये या उससे अधिक का निवेश करना चाहता है, तो उसे अपने पैन कार्ड की जानकारी साझा करनी होगी । किसान विकास पत्र ( Kisan Vikas Patra ) योजना का उपयोग गारंटी के रूप में ऋण प्राप्त करने के लिए भी किया जा सकता है ।

Saving के बजाय ऐसे करेंगे Investment, तो दोगुना, तीन-गुना हो जाएगी दौलत

सबसे पहले, आपको आपने बचत करने की धारणा से आगे बढ़कर सोचना होगा. आपको इसके लिए एक ज्यादा मजबूत अप्रोच रखना होगा जिससे आपका पैसा आपके ज्यादा काम आए. निवेश इसमें आपकी मदद कर सकता है. इससे आपका पैसा उस चीज में लगेगा जिससे उसमें बढ़ोतरी हो.

म्यूचुअल फंड में निवेश करना आसान

म्यूचुअल फंड में निवेश करना इसके लिए एक अच्छा और आसान तरीका है. म्यूचुअल फंड किसी एक व्यक्ति या संस्थाओं के पैसे को साथ में रखना है, जिसे मैनेज और निवेश एक्सपर्ट करते हैं. जिसे आमतौर पर फंड मैनेजर कहते हैं, जो निवेशकों की तरफ से यह करता है. म्यूचुअल फंड को रेगुलेट भारत में SEBI करता है. इसमें निवेश के लिए कई तरह के प्रोड्क्ट मौजूद हैं जो कई कैटेगरी के हैं. जिससे अलग-अलग तरह के निवेश के हिसाब से इनमें आप पैसा लगा सकता हैं.

तो आप निवेश की शुरुआत कैसे करें ?

SIPs या Systematic Investment Plans निवेश की शुरुआत के लिए एक अच्छा ऑप्शन है. आप इसमें एक फिक्सड अमाउंट को हर महीने म्यूचुअल फंड में डाल सकते हैं. इस तरह आप एक छोटी राशि से शुरुआत करके अपनी आमदनी बढ़ने के साथ इस राशि को बढ़ा सकते हैं. इसके लिए आपके पास एक साफ, टाइम बाउंड और लक्ष्य के साथ फाइनेंशियल प्लान होना चाहिए. साथ ही आपको पूरी ईमानदारी के साथ इसमें समय पर पैसे का भुगतान रहना चाहिए.

आप इसके लिए अपना बजट तय कर लीजिए और उसी के मुताबिक पैसे का निवेश कीजिए. साथ में एक इमरजेंसी फंड भी बना लें. इस बीच आप अपने लक्ष्यों को प्राथमिकता दे सकते हैं, जैसे बच्चों की उच्च शिक्षा या एक घर खरीदना आदि. लंबे समय के लिए लक्ष्य उस हिसाब से रखिये जिससे आपको रिटायरमेंट के बाद कोई परेशानी न हो. आप इसे स्वयं भी कर सकते हैं. इसके अलावा आप किसी अच्छे और समझदार वित्तीय सलाहकार की राय ले सकते हैं जो आपको हर कदम पर रास्ता दिखाए.

रेटिंग: 4.40
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 261