LIC IPO: शेयर खरीदना है तो फौरन निपटा लें यह काम, जल्द लॉन्च होगा देश का सबसे बड़ा इश्यू!

Vande Bharat Express: वंदे भारत की दो दिन में दो बार टूट गई 'नाक', आखिर यह बनी किससे है?

Vande Bharat Express: रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों के मुताबिक, वंदे भारत ट्रेन काफी तेज स्पीड में थी। इसी के चलते टक्कर होने पर इसके आगे के हिस्से को नुकसान पहुंचा है। इस ट्रेन में बाकी इंजनों की तरह आगे कोई गार्ड नहीं लगा होता है। गार्ड का इस्तेमाल करने पर ये इस ट्रेन की यूएसपी को खराब कर देगा।

वंदे भारत ट्रेन को नुकसान पहुंचा है काफी महंगा
जानकारों की माने तो वंदे भारत ट्रेन काफी महंगी है। इसमें हल्का सा भी नुकसान काफी महंगा पड़ेगा। ऐसे में रेलवे अधिकारियों को इसकी पटरी के दोनों ओर एक बाड़ लगानी चाहिए, जिससे जानवर पटरी पर न आ सकें। ऐसा करने पर ही इस ट्रेन को तेज स्पीड से चलाया जा सकेगा।

रेलवे रूट को अपगेड करने का चल रहा काम
अधिकारियों की माने तो रेलवे मुंबई-दिल्ली रूट को 160 किमी प्रति घंटे तक अपग्रेड करने पर काम कर रहा है। इसके एक हिस्से के रूप में, हम पटरियों, संपत्तियों, पुलों और यहां तक कि बाड़ लगाने का भी काम हो रहा है। इसे मार्च 2024 तक पूरा करने की योजना है।

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म. पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

Vande Bharat Express: वंदे भारत की दो दिन में दो बार टूट गई 'नाक', आखिर यह बनी किससे है?

Vande Bharat Express: रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों के मुताबिक, वंदे भारत ट्रेन काफी तेज स्पीड में थी। इसी के चलते टक्कर होने पर इसके आगे के हिस्से को नुकसान पहुंचा है। इस ट्रेन में बाकी इंजनों की तरह आगे कोई गार्ड नहीं लगा होता है। गार्ड का इस्तेमाल करने पर ये इस ट्रेन की यूएसपी को खराब कर देगा।

वंदे भारत ट्रेन को नुकसान पहुंचा है काफी महंगा
जानकारों की माने तो वंदे भारत ट्रेन काफी महंगी है। इसमें हल्का सा भी नुकसान काफी महंगा पड़ेगा। ऐसे में रेलवे शेयर बाजार कितनी बार दुर्घटनाग्रस्त हुआ है अधिकारियों को इसकी पटरी के दोनों ओर एक बाड़ लगानी चाहिए, जिससे जानवर पटरी पर शेयर बाजार कितनी बार दुर्घटनाग्रस्त हुआ है न आ सकें। ऐसा करने पर ही इस ट्रेन को तेज स्पीड से चलाया जा सकेगा।

रेलवे रूट को अपगेड करने का चल रहा काम
अधिकारियों की माने तो रेलवे मुंबई-दिल्ली रूट को 160 किमी प्रति घंटे तक अपग्रेड करने पर काम कर रहा है। इसके एक हिस्से के रूप में, हम पटरियों, संपत्तियों, पुलों और यहां तक कि बाड़ लगाने का भी काम हो रहा है। इसे मार्च 2024 तक पूरा करने की योजना है।

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म. पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

साल में एक बार बैंक अकाउंट से कटेगा 12 रुपये और आपको मिलेगा ₹2 लाख का फायदा, जानें क्या है स्कीम?

Pradhanmantri Suraksha Bima Yojana: कोरोना महामारी (Corona Pandemic) के बाद से हर इंसान बीमा के महत्त्व को समझने लगे हैं। लेकिन आम आदमी के लिए बीमा लेना इतना भी आसान नहीं है। ऐसा इसलिए क्योंकि बीमा.

साल में एक बार बैंक अकाउंट से कटेगा 12 रुपये और आपको मिलेगा ₹2 लाख का फायदा, जानें क्या है स्कीम?

Pradhanmantri Suraksha Bima Yojana: कोरोना महामारी (Corona Pandemic) के बाद से हर इंसान बीमा के महत्त्व को समझने लगे हैं। लेकिन आम आदमी के लिए बीमा लेना इतना भी आसान नहीं है। ऐसा इसलिए क्योंकि बीमा लेने के लिए प्रीमियम के तौर पर जेब ढीली करनी पड़ती है। अगर आप बीमा लेने की सोच रहे हैं वो भी कम खर्च में तो आपके लिए केंद्र की प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (PMSBY) एक बेहतर विकल्प है। इस बीमा योजना (Insurance policy) के तहत आप सालाना सिर्फ 12 रुपये जमा करके 2 लाख रुपये का एक्सिडेंटल इंश्योरेंस (Accidental insurance) पा सकते हैं। आइए जानते हैं इसके बारे में डिटेल्स-

जानें क्या है प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना ( PMSBY)?
इस स्कीम के तहत बीमा लेने वाले की एक्‍सीडेंट में मौत होने या पूरी तरह से अपंग होने पर 2 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा मिलता है। स्‍थायी रूप से आंशिक अपंग होने पर 1 लाख रुपये का कवर मिलता है। इस स्कीम का सालाना प्रीमियम महज 12 रुपये है। बता दें कि मई महीने के अंत में इसका प्रीमियम जमा किया जाता है। सबसे खास बात कि आपके बैंक खाते से 31 मई को यह राशि खुद ही कट जाती है। इसलिए ध्यान रखें कि अगर आपने PMSBY ली है तो अपना बैंक अकाउंट खाली न रखें।

₹84 का ये धांसू शेयर करा सकता है बंपर कमाई! सिर्फ 15 दिन में 1 लाख को बना दिया ₹2.53 लाख

क्लेम की राशि का भुगतान घायल या डिसेबल होने की स्थिति में बीमित व्यक्ति के खाते में होगा। दुर्घटना में मृत्यु होने पर नॉमिनी के खाते में भुगतान किया जाएगा। सड़क, रेल या ऐसे ही किसी अन्य एक्सीडेंट, पानी मे डूबने, अपराध में शामिल होने से मौत के मामले में पुलिस रिपोर्ट करना जरूरी होगा। सांप के काटने, पेड़े से गिरने जैसे हादसों में क्लेम हॉस्पिटल के रिकॉर्ड के आधार पर मिल जाएगा।

ऐसे करा सकते हैं रजिस्‍ट्रेशन
PMSBY में रजिस्ट्रेशन कराने के लिए कि‍सी भी बैंक में आवेदन किया जा सकता शेयर बाजार कितनी बार दुर्घटनाग्रस्त हुआ है है। चाहें तो बैंक मि‍त्र या बीमा एजेंट की भी मदद ले सकते हैं। बता दें कि सरकारी बीमा कंपनियां और कई प्राइवेट बीमा कंपनियां बैंकों के साथ मिलकर इन स्‍कीम्‍स की पेशकश कर रही हैं। प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना एक साल तक वैध रहती है। इसके बाद आपको हर साल इसे रिन्यू करवाना होता है।

LIC IPO: शेयर खरीदना है तो फौरन निपटा लें यह काम, जल्द लॉन्च होगा देश का सबसे बड़ा इश्यू!

कौन ले सकता है इस योजना का लाभ?
>> भारतीय नागरिक होना चाहिए।
>> 18 से 70 वर्ष कीआयु वर्ग का हो।
>> आधार के साथ जनधन या बचत बैंक खाता हो।
>> बैंक खाते से ऑटो-डेबिट हेतु सहमति।
>> 12/- रुपये प्रति वर्ष की दर से प्रीमियम।

दुर्घटना बीमा में अधिकतम एक करोड़ तक मिलेगा कवर, बदलेंगे नियम

भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (इरडा) ने सभी जनरल और स्वास्थ्य बीमा कंपनियों एक समान दुर्घटना बीमा (स्टैंडर्ड दुर्घटना बीमा पॉलिसी) लाने को कहा है। नई पॉलिसी की शर्ते और फायदे सभी कंपनियों और.

दुर्घटना बीमा में अधिकतम एक करोड़ तक मिलेगा कवर, बदलेंगे नियम

भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (इरडा) ने सभी जनरल और स्वास्थ्य बीमा कंपनियों एक समान दुर्घटना बीमा (स्टैंडर्ड दुर्घटना बीमा पॉलिसी) लाने को कहा है। नई पॉलिसी की शर्ते और फायदे सभी कंपनियों और ग्राहकों के लिए समान होंगे। मसौदे के मुताबिक स्टैंडर्ड दुर्घटना बीमा का न्यूनतम कवर 2.5 लाख रुपये और अधिकतम कवर एक करोड़ रुपये का होगा। नई पॉलिसी 1 अप्रैल, 2021 से बीमा कंपनियां बाजार में लेकर आएंगी।

इरडा की ओर से जारी मसौदे में कहा गया है कि बीमा बाजार में कई तरह के दुर्घटना बीमा पॉलिसी उपलब्ध है। प्रत्येक उत्पाद में अद्वितीय विशेषताएं हैं। इनमें से सही पॉलिसी का चुनाव करना आम लोगों के लिए मुश्किल हो रहा है। ऐसे में एक स्टैंडर्ड दुर्घटना बीमा पॉलिसी लाने की जरूरत है जिसको देखते हुए नीतिगत शब्दों के साथ एक मानक उत्पाद होने के उद्देश्य से प्राधिकरण ने सभी सामान्य और स्वास्थ्य बीमाकर्ताओं को मानक व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा उत्पाद की पेशकश करने का आदेश दिया है।

आने वाली पॉलिसी में ये खास फीचर होंगे

यह कवर दुर्घटनाओं के कारण मृत्यु, स्थायी विकलांगता या आंशिक विकलांगता से सुरक्षा प्रदान करेगा। मानक उत्पाद को एक वर्ष की पॉलिसी अवधि के साथ पेश किया जाएगा। यह अस्पताल में भर्ती होने के खर्च को भी कवर करेगा। प्रस्ताव में दुर्घटना के शिकार के दो बच्चों की शिक्षा खर्च के लिए भी विशेष प्रावधान किया गया है।

12 माह के अंदर मौत तो पूरा भुगतान

प्रस्तावित मसौदे में कहा गया है कि अगर किसी बीमित व्यक्ति की मौत दुर्घटना होने के 12 महीने के अंदर होती है तो बीमा कंपनी को कवर राशि के पूरे रकम का भुगतान करना होगा। इसके साथ ही स्थायी विकलांगता के मामले में भी 100% बीमा राशि के बराबर लाभ का प्रस्तावित किया गया है।

बच्चों की पढ़ाई के लिए भुगतान

प्रस्तावित मसौदे के अनुसार, अगर बीमा धारक की दुर्घटना से मौत या अस्थायी विकलांगता हो जाती है तो उसके ऊपर आश्रित दो बच्चों को तत्काल कवर राशि का 10 फीसदी के बारबर राशि का भुगतान करना होगा।

नो क्लेम बोनस का भी लाभ

आने वाली दुर्घटना बीमा में नो क्लेम बोनस का भी लाभ देने का प्रस्ताव दिया गया है। अगर कोई बीमा धारक पूरे साल में कोई क्लेम नहीं करता है तो उसके कवर राशि में पांच फीसदी की बढ़ोतरी कर देनी चाहिए। अगर, दावा किया जाता है तो अर्जित संचयी बोनस उसी दर पर कम किया जा सकता है।

क्या होता है दुर्घटना बीमा

दुर्घटना बीमा पॉलिसी का एक प्रकार है, जो आपको आकस्मिक विकलांगता या मृत्यु के कारण होने वाल वित्तीय नुकसान से उबरने में मदद करता है। अगर दुर्घटना के कारण आपके शरीर का कोई अंग ना रहे, तो ऐसे में पॉलिसी आपके परिवार को एकमुश्त राशि प्रदान करती है, जिससे विकलांगता के कारण आए वित्तीय संकट से निपटा जा सकता है।

रेटिंग: 4.47
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 688